पति पत्नी को रहना है हमेशा खुश तो उम्र होना चाहिए इतने का फर्क, रिश्ता में बना रहता है प्यार

WhatsApp Channel (Follow Now) Join Now
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

पारंपरिक तौर पर भारतीय समाज में शादी एक पवित्र बंधन है. इसे सात जन्मों का बंधन बताया जाता है. लेकिन, बदलते समाज में शादी को लेकर लोगों की सोच और कई परंपराएं भी बदली हैं.

आमतौर पर अपने समाज में अरेंज मैरेज का रिवाज रहा है, लेकिन अब युवा पीढ़ी लव मैरिज की ओर आकर्षित हो रही है. ऐसे में शादी से जुड़े एक तथ्य पर आज बात करते हैं.

वैसे तो कहा जाता है कि प्यार अंधा होता है. किस पुरुष के दिल में कौन महिला या फिर किस महिला के दिल कौन पुरुष अपनी जगह बना ले, इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है.

यहां सारा साइंस फेल हो जाता है. हमारे सामने कई ऐसे उदाहरण हैं. दिग्गज पूर्व क्रिकेट सचिन तेंदुलकर की ही चर्चा कर लेते हैं. सचिन की पत्नी अंजलि तेंदुलकर उम्र में उनसे चार साल बड़ी हैं.

लेकिन, आज हम आपके साथ चर्चा करना चाहते हैं कि साइंस के हिसाब के पति-पत्नी की उम्र में कितना गैप होना चाहिए. इस विषय पर आने से पहले हम आपको स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि साइंस में शादी का कोई कॉन्सेप्ट नहीं है. बल्कि यहां इस बात की चर्चा है कि शारीरिक संबंध बनाने के लिए एक महिला और पुरुष की न्यूनतम उम्र कितनी होनी चाहिए.

साइंस में इसके लिए अंग्रेजी शब्द copulation (शारीरिक संबंध) का इस्तेलाम किया गया है. इसके मुताबिक जब महिला और पुरुष के शरीर में हार्मोनल चेंज आ जाता है तब वे शारीरिक संबंध के योग्य हो जाते हैं.

महिलाओं में यह बदलाव सात से 13 साल के बीच होने लगता है. वहीं पुरुषों में यह बदलाव 9 से 15 साल के बीच होता है. यानी महिलाओं में यह हार्मोनल बदलाव पुरुषों की तुलना में जल्दी आता है. इस कारण वह पुरुषों की तुलना में जल्दी शारीरिक संबंध बनाने के योग्य हो जाती हैं.

हालांकि, इस हार्मोनल चेंज का यह मतलब कतई नहीं है कि उसके बाद लड़की या लड़के की शादी कर दी जाए. दुनिया के तमाम देशों में शारीरिक संबंध की न्यूनतम उम्र तय की गई है. यह उम्र 16 से 18 साल के बीच है. अपने देश में शारीरिक संबंध बनाने की न्यूनतम उम्र भी 18 साल है.

इसके साथ ही अपने देश में कानूनी तौर शादी की न्यूनतम उम्र तय है. लड़कियों की उम्र 18 साल और लड़कों की उम्र 21 साल रखा गया है. इस हिसाब से यहां कानूनी तौर पर पति-पत्नी की उम्र में तीन साल के गैप की बात स्वीकार्य है.

हालांकि बीते दिनों लड़कियों की भी शादी की न्यूनतम उम्र 21 साल करने को लेकर बहस छिड़ी थी. इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दाखिल हुई थी. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने उसे खारिज कर दिया था.

कुल मिलाकर परंपरागत तौर पर भारतीय समाज में पति-पत्नी की उम्र में तीन से पांच साल का गैप स्वीकार्य है. समाज भी कहता है कि लड़की की उम्र लड़के से कम होने चाहिए. लेकिन, कई बार यह गैप 10 से 15 सालों का भी होता है. जाने माने अभिनेता शाहिद कपूरी और उनकी पत्नी मीरा कपूर की उम्र में भी करीब 15 साल का गैप है.

Leave a Comment

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें