शादी का कार्ड बनवाते समय इन नियमों का रखेंगे ख्याल, तो खुशहाल रहेगा शादीशुदा जीवन

WhatsApp Channel (Follow Now) Join Now
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

हिंदू धर्म में विवाह आदि का विशेष महत्व है. शादी दो लोगों की जिंदगी की नई शुरुआत है. विवाह के दौरान कई चीजों का खास ध्यान रखा जाता है ताकि जरा-सी गलती का असर लोगों के भविष्य पर न पड़े.

विवाह आदि के मामलों में कपड़ों से लेकर खाने और वेडिंग कार्ड को भी विशेष महत्व दिया गया है. कई बार लोग अपनी मनपसंद वेडिंग कार्ड के चलते कुछ चीजों को नजरअंदाज कर देते हैं.

लेकिन वास्तु शास्त्र में भी वेडिंग कार्ड को लेकर कई नियम बताए गए है. दरअसल, वेडिंग कार्ड से जुड़े इन नियमों का पालन किया जाए तो वैवाहिक जीवन खुशहाल रहता है और विवाह में भी कई दिक्कत नहीं आती. 

वेडिंग कार्ड को लेकर रखें इन बातों का ध्यान 

  • वास्तु के अनुसार वेडिंग कार्ड बनवाते समय कुछ चीजों का बनवाना जैसे कमल की आकृति बहुत शुभ मानी जाती है. कहते हैं कि इससे वैवाहिक जीवन खुशहाल रहता है. 
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार वेडिंग कार्ड बनवाते समय इसके आकार का विशेष ध्यान रखना चाहिए. कभी भी बड़ा या ट्रायएंगल शेप का वेग डिंग कार्ड नहीं बनवाना चाहिए. वेडिंग कार्ड सिंपल और चार कोनों वाला शुभ माना जाता है. चार कोनों का वेडिंग कार्ड सुख, समृद्धि, शांति और खुशहाली का प्रतीक होता है.
  • वास्तु जानकारों के अनुसार इन सभी के अलावा शादी के कार्ड के रंग का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए. शादी का कार्ड कभी भी गहरे रंग का नहीं होना चाहिए. यानी भूल से भी काले,

भूरे जैसे डार्क रंग कलर का शादी का कार्ड न बनवाएं. इसके अलावा शादी के कार्ड पर दूल्हा-दुल्हन या अन्य परिजनों का नाम किसी भी गहरे रंग से नहीं लिखा होना चाहिए.

  • वास्तु के अनुसार शादी का कार्ड बनवाने के लिए सबसे शुभ कलर पीला होता है. इसके अलावा आप लाल रंग या लाइट कलर के भी शादी के कार्ड बनवा सकते हैं. 

Leave a Comment

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें