दिल्ली में फिर चलेगा MCD का बुलडोजर, इन इलाकों में अवैध निर्माण होंगे ध्वस्त, जानिए अगला टार्गेट

WhatsApp Channel (Follow Now) Join Now
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

दिल्ली में कृषि भूमि पर किए जा रहे अवैध निर्माण के खिलाफ बुधवार से नगर निगम ने अभियान शुरू कर दिया है। निगम के सिविल लाइंस जोन में 31 जनवरी तक 52 जगहों पर 100 से अधिक ढांचों व सड़कों को ध्वस्त किया जाएगा।

बुधवार को बुराड़ी के प्रधान एन्क्लेव में डेढ़ एकड़ में मौजूद कृषि भूमि पर बनाए गए अवैध निर्माण को ध्वस्त किया गया। निगम के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस डेढ़ एकड़ जमीन पर 5 से 6 हजार गज में अवैध निर्माण किया गया था।

इसमें तीन से चार गोडाउन की 12 फुट ऊंची दीवारों को और 500 फुट से अधिक सड़कों को ध्वस्त किया गया। इस कार्रवाई में दिल्ली पुलिस के लगभग 7 सिपाही भी शामिल रहे। इसमें दो जेसीबी मशीनें शामिल थीं। 

ढांचों के साथ सड़कों को भी तोड़ा जा रहा

निगम ने सिविल लाइंस जोन में इस विशेष अभियान की शुरुआत बीते वर्ष 1 अक्टूबर से 20 दिसंबर के दौरान की थी। इस दौरान लगभग 100 जगहों पर विभिन्न अवैध ढांचों को गिराया गया था।

इसमें सड़कों को भी तोड़ा गया था। 20 दिसंबर तक की गई कार्रवाई के बाद बुराड़ी के प्रधान एन्क्लेव में फिर से अवैध निर्माण का कार्य शुरू हो गया था। बुधवार को इस अवैध निर्माण को हटा दिया गया है। कृषि भूमि पर अवैध निर्माण के तहत ढांचों के साथ सड़कों को भी तोड़ा जा रहा है।

मुखर्जी नगर में सड़कों से अतिक्रमण हटाया गया

दिल्ली नगर निगम के सिविल लाइंस जोन ने मुखर्जी नगर में बुधवार को सड़कों से अतिक्रमण को हटाया। इस दौरान सड़क किनारे लगाए गए कई टेंट, त्रिपाल को भी हटाया। निगम के अधिकारी के अनुसार कर्मचारियों ने बुधवार को मुखर्जी नगर में स्थित महर्षि वाल्मीकि संक्रमण रोग (एमवीआईडी) अस्पताल, टैगोर पार्क एक्सटेंशन के आसपास सड़कों के किनारों से अतिक्रमण को हटाया।

इस दौरान कई सामान को जब्त भी किया गया। जब्त किए सामान को ट्रैक में डाला गया। निगम की यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी। 

कई जगहों पर कार्रवाई की निगम ने तैयारी की

वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सिविल लाइंस जोन में बुराड़ी, झरोदा माजरा, संत नगर, कादीपुर, मलका गंज, वजीराबाद, मुखर्जी नगर जैसे इलाकों में 31 जनवरी तक कार्रवाई जारी रहेगी। इसके अतिरिक्त गुरुवार को बुराड़ी के संत नगर में 3.5 एकड़ की जमीन पर कार्रवाई होगी। इसमें बने अवैध निर्माण एवं सड़क को ध्वस्त किया जाएगा। इसके लिए तीन जेसीबी मशीनें लगाई जाएंगी। निगम टीम के साथ दिल्ली पुलिस के 22 सिपाही भी तैनात रहेंगे। 

अवैध रूप से निर्माण करने वाले बिल्डरों से सावधान होने की अपील

अधिकारियों ने कहा कि कृषि भूमि पर अवैध रूप से निर्माण करने वाले बिल्डरों से लोग सावधान रहें। उनके झांसे में बिल्कुल भी न आए। इसके अलावा कई स्थानीय लोगों ने विभिन्न विभागों की कार्य प्रणाली पर भी सवाल उठाए।

स्थानीय निवासियों ने विभागों पर निशाना साधते हुए कहा कि अवैध निर्माण करने वाले बिल्डरों के खिलाफ ठोस कदम उठाने के लिए पहले कार्रवाई क्यों नहीं की जाती है। जिन लोगों को बिल्डिरों से धोखा मिला। उन्हें मुआवजे भी मिलना चाहिए।

Leave a Comment

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें