शिकागो शहर की तर्ज पर बसाया जाएगा न्यू Noida, 84 गांवों की जमीनों को देना पड़ेगा क़ुरबानी

WhatsApp Channel (Follow Now) Join Now
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

दादरी और बुलंदशहर के 84 गांवों की जमीन पर नया नोएडा विकसित होगा। इसको अमेरिका के शिकागो शहर की तर्ज पर बनाया जाएगा। औद्योगिक विकास आयुक्त और चेयरमैन मनोज सिंह की अध्यक्षता में मंगलवार को बोर्ड बैठक हुई। इसमें बताया गया कि न्यू नोएडा को शिकागो की तर्ज पर बनाया जाएगा। 

कितनी जमीन पर क्या बनेगा-

न्यू नोएडा का विकास उत्तर प्रदेश औद्योगिक विकास अधिनियम 1976 के तहत किया जाएगा। इस शहर में 8811 हैक्टेयर जमीन उद्योगों के लिए आरक्षित की जाएगी। ट्रैफिक और ट्रांसपोर्ट के लिए 3283 हैक्टेयर जमीन निर्धारित की जाएगी। इसके अलावा 3174 हैक्टेयर जमीन को ग्रीन बेल्ट के रुप में रखा जाएगा।

साथ ही 2477 हैक्टेयर जमीन घरों के लिए आवासीय श्रेणी में रहेगी। इसी प्रकार स्कूल कॉलिज और दूसरी संस्थाओं के लिए 1682 हैक्टेयर जमीन का प्रावधान अलग-अलग सेक्टरों में किया जाएगा। बाकी जमीन को व्यवसायिक, मनोरंजन स्थलों और दूसरी आवश्यक सुविधाओं के लिए पहले से निर्धारित करके रखी जाएगी।

न्यू नोएडा में अल्ट्रा मॉडर्न इंफ्रास्ट्रक्चर होगा-

न्यू नोएडा में निवेश के हिसाब से सभी जरूरी सुविधाएं दी जाएंगी। न्यू नोएडा को दादरी-नोएडा-गाजियाबाद से जोड़ते हुए विशेष निवेश एरिया (डीएनजीआईआर) का नाम दिया गया है।

इसका मास्टर प्लान-2041 दिल्ली का स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर तैयार कर रहा है। न्यू नोएडा में अल्ट्रा मॉडर्न इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किया जाएगा। इसके लिए बिजली, पानी, गैस पाइप लाइन और इंटरनेट सेवा होगी।

इन सभी सुविधाओं को अंडरग्राउड रखा जाएगा। न्यू नोएडा की खास बात यह होगी कि यह सड़क, रेलवे और हवाई जहाज समेत कई बेहतर कनेक्टिविटी वाला शहर होगा। शिकागो की तरह यहां इंडस्ट्रियल हब बनाया जाएगा।

न्यू नोएडा में बड़ा लाॅजिस्टिक और वेयर हाउस बनाए जाएंगे। न्यू नोएडा को सीधे जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से रेल और सडक मार्ग से जोड़ा जाएगा। इससे न्यू नोएडा में लगने वालीं इंडस्ट्री अपना उत्पादन को देश-दुनिया में कार्गाे से भेज सकेंगी।

दादरी और सिकंदराबाद इलाके में बसेगा न्यू नोएडा-

आपको बता दें कि गौतमबुद्ध नगर की दादरी तहसील के 20 और बुलंदशहर जिले की सिकंदराबाद तहसील के 67 गांवों को जोड़कर नया नोएडा बसाया जाएगा। कुल मिलाकर 87 गांवों को नए नोएडा में शामिल किया गया है।

करीब एक साल पहले इस नए शहर को उत्तर प्रदेश सरकार और राज्यपाल ने मंजूरी दी थी। नए नोएडा की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट और मास्टर प्लान बनाए जा चुके हैं। नया नोएडा, ग्रेटर नोएडा और बुलंदशहर के बीच होगा।

यह शहर पूरी तरह औद्योगिक गतिविधियों का केंद्र बनेगा। इस साल नए नोएडा के लिए जमीन खरीदने का काम शुरू हो जाएगा। नोएडा की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु महेश्वरी ने बताया कि जमीन खरीदने के लिए 1000 करोड़ रुपए आवंटित करने का प्रस्ताव बोर्ड में रखा गया था, जिसे मंजूरी दे दी गई है।

सबसे ज्यादा वेयर हाउस बनाने के लिए लोग खरीद रहे जमीन-

बताया जा रहा है कि सबसे अधिक वेयर हाउस बनाने के लिए लोग किसानों से जमीन ले रहे हैं। न्यू नोएडा के अलावा ग्रेटर नोएडा फेस-2 क्षेत्र के गांवों में भी बड़े पैमाने पर जमीने खरीदी जा रही है। इन जमीनों पर वेयर हाउस बनाए जा रहे हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक केवल नोएडा या ग्रेटर नोएडा के ही नहीं दिल्ली, फरीदाबाद, हरियाणा, वेस्ट यूपी के अलावा मुंबई, महाराष्ट्र, कोलकाता और मद्रास तक की कंपनियां न्यू नोएडा बसने वाले इलाके में जमीन खरीदने के लिए पहुंच रहे हैं।

Leave a Comment

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें